 डिजिटल नेटवर्क तकनीक क्या है?

  • Home
  • Blog
  • Business
  •  डिजिटल नेटवर्क तकनीक क्या है?

डिजिटल नेटवर्क तकनीक क्या है?

विश्व में Data Transfer और Networking का  यूज़ बहुत ज्यादा हो गया जिससे Data की  बहुत ज्यादा खर्च होता है जिससे Social, Environmental, And Economic चुनौतिया जाती है।  इन चुनौतियोंको हल करने  के लिए Digital Networking की मदद ली जाती है डेटा नेटवर्क एक ओपन मार्केट  के Development में एक हेल्पर   के रूप में काम करता  हैं जो Digital दुनिया के   किसी  भी एरिया के Customer  के लिए Available  होता है।

Digital Networking के Concepts क्या-क्या हो सकते है।

  • डिजिटल नेटवर्क में Digital Switching और Digital Transmission दोनों शामिल हैं। डिजिटल नेटवर्क में मार्केटप्लेस, प्लेटफॉर्म, डेटा नेटवर्क, Communication Network और इन सबके Center में Social Media है। एक Communication Network ,,मिल कर Customer को  बहुत बड़े एरिया में डिजिटल नेटवर्किंग में Strategic Platform देता है।  जोT  को चलने के लिए को अच्छे तरीके से  Organized करता है , Digital Networking Customer की लागत को काम करता है  , खतरों का पता लगाने और उन्हें शामिल करने और नेटवर्क को व्यावसायिक जरूरतों के लिए लगातार संरेखित करने की अनुमति देता है।
  • Data Networks वर्तमान में, दो प्रकार के Data Network हैं –
  1. Private Data Network
  2. Public Data Network
  3. Private Data Network –

यह एक Personal Network  है जो किसी एक Particular जगह पर ही Use होता है जैसे – किसी Company की Building के अरे में ही Data को Customer Use कर सकता  है।  जब Data को उसे करने के लिए उसे Wi-Fi Connector से जोड़ा जाता है ये Wi-Fi Connector किसी Special Server से जुड़े हुए होते है  जो Data को Access करने की अनुमति देता है जो पूरे Office में Data  को  Save  करने का काम करता है। इन  Private Data Networks को  Virtual Private Network (Vpn) बनाकर Communications Carrier से जोड़े कर इसे Data Use करने के  लिए बनाया जाता है।

Private Data Network  को Customer अपने घर ,Business के लिए,स्कूल ,मोबाइल यूज़ के लिए, Hospitals के लिए लगवाते है।  Private Data Network   बहुत Secure है।

  1. Public Data Network –

Public Data Network कोपरेट और रिटेल कस्टमर के लिए Use होता है।  Public Network में Privacy के लिए किसी किसी में Password लगे होते है और जिनमें Password नहीं होते है  उन्हें Browser में जाकर  Connect (Log-In ) करना  पडता है। जब Communication Network दो Network से जुड़ा हुआ होता  है तब तब उससे Data Transmission होता है। Data Transmission में दो Layer होती है।

  1. Physical Layer ये डाटा के Flow की Direction को Manage करता है और यह रिसीवर सिस्टम और Wi-Fi Connector तक कैसे पहुंचेग इन सबको Manage करता है।
  2. Exchange की Direction यह ट्रांसमीटर और रिसीवर के  बीच में भेजे गए सिंक्रोनाइज़ेशन और कंप्यूटर नेटवर्क की  बिट्स की संख्या के ऊपर अलग अलग डेटा ट्रांसमिशन मोड होते है।
  • इनफार्मेशन भेजने के लिए डेटा ट्रांसमिशन के 3 मोड होते है :
  1. Simplex
  2. Half-Duplex
  • Full-Duplex
  • Transmission और Receiver के बीच सिंक्रोनाइज़ेशन के लिए Data Transmission मोड दो प्रकार के होते हैं:
  1. Synchronous
  2. Asynchronous
  • Network के साथ भेजी गई बिट्स की  संख्या के हिसाब के अनुसार  दो प्रकार के डेटा ट्रांसमिशन मोड होते हैं:
  1. Serial
  2. Parallel

Leave A Comment

No products in the cart.

Subscribe to our newsletter

Sign up to receive latest news, updates, promotions, and special offers delivered directly to your inbox.
No, thanks
X